joint Pain

जोड़ों का दर्द: कारण और उपाय  - Joint Pain: Causes and Remedies


जोड़ों का दर्द आज कल के समय में एक आम समस्या है. पहले ऐसा माना जाता था की जोड़ों का दर्द (Joint Pain ) सिर्फ उम्रदराज़ लोगों तक ही सीमित है, पर हमेशा यह  सच हो, ऐसा ज़रूरी नहीं क्यूंकि आज कल ये समस्या जवान लोगों में भी दिखने लग गयी है, हालाँकि, दर्द के कारणों में फ़र्क़ ज़रूर हो सकता है।

 इसीलिए चाहे आपकी उम्र जो भी हो, अपने जोड़ों का ख्याल रखना आवश्यक होता है, और उनका ख्याल रखने के लिए सबसे पहले अपने जोड़ों, जोड़ों के दर्द के कारण को जानना और समझना आवश्यक होता है। 

 क्या है जोड़ों का दर्द? - What is the joint pain?

 knee pain

शरीर के वो हिस्से जहाँ दो या दो से अधिक हड्डियां मिलकर हमारे शरीर की गतिविधयों में सहायता करते है, उन्हें ही हम जॉइंट्स या जोड़ कहते है। एक इंसान के शरीर में कई जॉइंट्स होते है और जब इन् जॉइंट्स में दर्द या बेचैनी होने लगती है , उसे ही हम जोड़ों का दर्द या (Joint Pain ) कहते है। कई बार ये दर्द कुछ ही समय में ठीक हो जाता है पर कभी - कभी यह दर्द असहनीय हो सकता है और इसे अतिरिक्त देखभाल की ज़रुरत पड़ती है।

जोड़ों के दर्द के क्या कारण है? - What is the cause of joint pain?

जोड़ों में दर्द कई कारणों की वजह से हो सकता है ,उनमें से कुछ निम्नलिखित हैं  -

  1. मोच या खिंचाव
  2. ऑस्टिओआर्थरिटिस या गठिया की समस्या जो उम्र के साथ लोगों को प्रभावित करता है
  3. काफी बार पुरानी दुर्घटनाओं में लगी चोट भी समस्या कर सकती है
  4. कमज़ोर हड्डियां
  5. इन्फेक्शन

  इसके अलावा कुछ लोग सर्दी के मौसम में अक्सर जोड़ों में दर्द की शिकायत करते है ,क्यूंकि सर्दियों में हमारे शरीर में खून का संचार कम होने लगता है जिसके वजह से जोड़ों में और अकड़न आ जाती है। सिर्फ यही नहीं , यहाँ तक की आपके गलत खान-पान का असर भी आपके जोड़ों पर हो सकता है। 

जोड़ों के दर्द से राहत के लिए कुछ आसान उपाय - Some easy ways to get relief from joint pain 

 knee pain relief

समस्या के बारे में अच्छे से जानने  के बाद आइये जानते है की हम अपने जोड़ों  के दर्द की किस तरह देखभाल कर  सकते है।  जिसके वजह से हमे दर्द से आराम भी मिले और आने वाले समय में हम दर्द से बचाव भी कर पाए। 

  1. जोड़ों के दर्द से बचने के लिए अपने वजन को नियंत्रित करना अत्यंत आवश्यक है, क्यूंकि जब हमारा वज़न अधिक होता है तब हमारे जोड़ों पर ज़रुरत से ज़्यादा दबाव या प्रेशर पड़ता है जिसके वजह से जॉइंट्स समय से पहले खराब होने लग जाते है। इसीलिए अपने वज़न को नियंत्रण में रखना अति आवश्यक होता है।
  2. जोड़ों को स्वस्थ रखने के लिए हमे अपने खान-पान में पौष्टिक आहार को महत्व देना चाहिए। दूध, विटामिन E और ओमेगा-3 युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करना हमारी हड्डियों और जोड़ों के लिए काफी लाभदायक होता है।
  3. संतुलित खाने के साथ ही हमे नियमित व्यायाम भी करना चाहिए क्योंकि अगर हमारी मांसपेशियों में किसी प्रकार की कोई हलचल नहीं होगी तो इससे हमारे जोड़ों में अकड़न और दर्द होगा। वहीँ हर दिन व्यायाम करते रहने से हमारे जॉइंट्स स्वस्थ और मज़बूत रहेंगे।
  4. सही Posture में चलना और बैठना भी जोड़ों को स्वस्थ रखने का एक एहम अंग है। इसीलिए कोशिश करे की उठते, बैठते, चलते या रोज़मर्रा के कामों के वक़्त भी अपने पोस्चर को सही  रखे। 
  5. दर्द से निदान पाने के लिए आप गरम या ठंडी सिकाई का उपयोग भी कर सकते है। गरम सिकाई करने से खून संचार बेहतर होता है जबकि ठन्डे सिकाई से सूजन और चुभन से आराम मिलता है।

इन 5 तरीकों के अलावा जोड़ों के दर्द से राहत पाने के लिए कई अलग तरीके भी अपना सकते है  - जैसे किसी आयुर्वेदिक तेल से दर्द वाली जगह पर मालिश करना। मालिश के लिए आप किसी भी तरह के तेल का उपयोग कर सकते है पर डॉ. ऑर्थो आयुर्वेदिक तेल एक अच्छा सुझाव है। इस तेल में 8  औषधियों की ताकत है जो की जोड़ों के दर्द से लड़ने के लिए काफी महत्वपूर्ण साबित हो सकता है। इसी के साथ ही जितना हो सके अपने जोड़ों (joints ) को किसी भी तरीके के चोट से बचा कर रखें । 

इन उपायों को अपना कर आप अपने जोड़ों के दर्द को आसानी से आराम दे पाएंगे। हालांकि अगर आपका दर्द फिर भी रहता है तो बेहतर यही होगा की आप किसी विशेषज्ञ को दिखा लें। 

FAQs about Joints Pain

Q. जोड़ों में दर्द क्यों होता है? (Why do joints pain?)

A. हमारे जोड़ कंकाल को एक साथ रखते हैं और इसे लचीला रखते हैं। लेकिन, समय के साथ, जोड़ों के आसपास की मांसपेशियों और स्नायुबंधन में टूट-फूट हो जाती है, जिससे जोड़ों में दर्द हो सकता है। जोड़ों से जुड़ी कई बीमारियों के कारण भी जोड़ों में दर्द हो सकता है।

Q. जोड़ों के दर्द के लिए क्या करना चाहिए? (What should be done for joint pain?)

A. जैसा कि ब्लॉग में चर्चा की गई है, जोड़ों के दर्द से बचने के लिए स्वस्थ वजन बनाए रखना, पौष्टिक भोजन का सेवन करना और शरीर की सही मुद्रा बनाए रखना महत्वपूर्ण है।

Q. जोड़ों के दर्द के लिए कौन सा तेल इस्तेमाल करना चाहिए? (Which oil should be used for joint pain)

A. जोड़ों के दर्द से लड़ने के लिए कृत्रिम तेलों के विपरीत प्राकृतिक तेल सबसे अधिक फायदेमंद होते हैं। डॉ. ऑर्थो ऑयल आठ आयुर्वेदिक तेलों का पूरी तरह से शक्तिशाली मिश्रण है जो आयुर्वेद में अपने दर्द निवारक लाभों के लिए बहुत लोकप्रिय हैं।

Q. जोड़ों के दर्द का क्या कारण है? (What causes joint pain?)

A. हालांकि जोड़ों के दर्द के कई कारण हैं, उनमें से कुछ सबसे आम हैं:

• जोड़ों से संबंधित पुराने रोग
• संयुक्त संक्रमण
• अव्यवस्था
• दुर्घटना

Q. जोड़ों के दर्द के लिए क्या खाएं? (What to eat for joint pain?)

A. जोड़ों के दर्द की समस्या के लिए ओमेगा -3 फैटी एसिड से भरपूर खाद्य पदार्थ, लहसुन, अदरक, पालक, हल्दी, ब्रोकली आदि का सेवन करना सबसे अच्छा है।

Q. जोड़ों के दर्द के घरेलू उपचार क्या हैं? (What are the home remedies for joint pain)

A. जोड़ों के दर्द को कम करने के कुछ घरेलू उपचार शरीर के संतुलन को बनाए रखने के इर्द-गिर्द घूमते हैं। स्वस्थ वजन बनाए रखने से लेकर पौष्टिक भोजन करने और सही मुद्रा रखने तक। सब कुछ महत्वपूर्ण है। इसके अलावा, कोमल तेल मालिश भी कुछ हद तक मदद करती है।